चैत्र नवरात्र पर कब करें कलश स्थापना

चैत्र नवरात्र 18 मार्च यानी रविवार से शुरू हो रहा है। हिंदू पंचांग के अनुसार इसी दिन से नए साल की शुरुआत होती है। इस बार अष्टमी और नवमी एक ही दिन 25 मार्च को है। इस कारण आठ दिन का ही नवरात्र होगा। Continue reading “चैत्र नवरात्र पर कब करें कलश स्थापना”

Advertisements

होलिका दहन के दिन रहें सावधान, शिकार न हो जाएं जादू-टोने का

होलिका दहन से आठ दिन पहले ही होलाष्टक शुरू हो जाता है। इस दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं करना चाहिए। इस समय होलाष्टक चल रहा है। यह होलिका दहन के दिन यानी एक मार्च तक रहेगा। इस दौरान कोई भी शुभ कार्य करने से बचें। इसके साथ ही इन दिनों ज्यादा संभलकर रहें, क्योंकि टोने-टोटके का असर तत्काल होता है। खासतौर से होलिका दहन के दिन। इसलिए कुछ बातों को लेकर सावधानी बरतने की जरूरत है। Continue reading “होलिका दहन के दिन रहें सावधान, शिकार न हो जाएं जादू-टोने का”

इस बार दुर्लभ योग में होली, जानिए आपकी राशि पर क्या पड़ेगा प्रभाव

इस बार होली पर दुर्लभ संयोग बन रहा है। होलिका दहन के समय इस बार पूर्णिमा तिथि, प्रदोष काल होने के साथ भद्रा भी नहीं होगा। ये तीनों संयोग होलिका दहन के लिए बहुत ही शुभ माने जाते हैं। इस बार ये तीनों संयोग बन रहे हैं। इसके अलावा होली पर शनि धनु राशि में रहेंगे। वहीं शनि देवगुरु बृहस्पति की राशि में भी हैं। इससे पहले यह योग 1990 में बना था। इस तरह यह संयोग 28 साल बाद बन रहा है। इससे कई राशि वालों को काफी फायदा होगा। उनकी किस्मत चमकेगी। Continue reading “इस बार दुर्लभ योग में होली, जानिए आपकी राशि पर क्या पड़ेगा प्रभाव”

जानें होली का शुभ मुहूर्त

होली आने को है। इसे लेकर सभी का मन रंग-रंग होने लगा है। मन में उत्साह भर गया है। इसकी तैयारी शुरू हो गई है। लेकिन होली किस दिन मनाएंगे और उसका शुभ मुहूर्त क्या है आइए हम आपको बताते हैं। Continue reading “जानें होली का शुभ मुहूर्त”

जानें क्यों मनाई जाती है होली

होली में हर कोई रंगों से सराबोर हो जाता है। यह क्यों और कब से मनाया जाता है इसे लेकर अनेक कहानियां जुड़ी हैं। इनमें से सबसे प्रसिद्ध कहानी है भक्त प्रहलाद की। माना जाता है कि प्राचीनकाल में हिरण्यकश्यप नामक एक अत्यंत बलशाली असुर राजा था। वह खुद को ही ईश्वर मानने लगा था। उसने अपने राज्य में ईश्वर का नाम लेने पर पाबंदी लगा दी थी। हिरण्यकश्यप का पुत्र प्रहलाद ईश्वर भक्त था। वह हमेशा भगवान का नाम लेता था। कई बार मना करने और समझाने पर भी नहीं माना। इससे गुस्साकर हिरण्यकश्यप ने उसे अनेक कठोर दंड दिए, परंतु उसने ईश्वर की भक्ति का मार्ग नहीं छोड़ा। हिरण्यकश्यप की बहन होलिका को वरदान प्राप्त था कि वह आग में भस्म नहीं हो सकती। हिरण्यकश्यप ने उसे आदेश दिया कि वह प्रहलाद को गोद में लेकर आग में बैठे। आग में बैठने पर होलिका तो जल गई, पर प्रहलाद बच गया। ईश्वर भक्त प्रहलाद की याद में इस दिन होली जलाई जाती है। इसके अगले दिन होली मनाई जाती है। Continue reading “जानें क्यों मनाई जाती है होली”

जानें बसंत पंचमी पर कैसे करें पूजा और शुभ मुहूर्त

22 जनवरी को पूरे देश में बसंत पंचमी का त्‍योहार धूमधाम से मनाया जाएगा। इस दिन विद्या की देवी सरस्‍वती का जन्‍म हुआ था, इसलिए उनकी पूजा का वि‍धान है। इस दिन कई लोग प्रेम के देवता कामदेव की भी पूजा भी करते हैं। बसंत पंचमी पर सरसों के खेत लहलहा उठते हैं। चना, जौ, ज्‍वार और गेहूं की बालियां खिलने लगती हैं। इसी दिन से ऋतुओं के राजा बसंत की शुरुआत होती है। मौसम सुहाना हो जाता है। Continue reading “जानें बसंत पंचमी पर कैसे करें पूजा और शुभ मुहूर्त”

मौनी अमावस्या पर कैसे करें स्नान व पूजा

मौनी अमावस्या का अपना अलग ही महत्व है। हर साल माघ में आने वाली पहली अमावस को मौनी अमावस्या कहा जाता है। इसकी खास बात यह है कि इस दिन मौन रहकर स्नान किया जाता है। पूजा-पाठ और व्रत किया जाता है। मान्यता है कि इस दिन व्रत रखने से पुण्य की प्राप्ति होती है। पितरों को शांति मिलती है। इसे भौमवती अमावस्या और मौन अमवस्या भी कहा जाता है। इस बार मौनी अमावस्या 16 जनवरी को है। Continue reading “मौनी अमावस्या पर कैसे करें स्नान व पूजा”