शिव के 12 ज्योर्तिलिंग जिनके दर्शन से दूर होते कष्ट, पूरी होती मनोकामना

भगवान शिव ऐसे देवता माने जाते हैं, जिन्हें प्रसन्न करना बड़ा ही आसान है। वे विश्व कल्याण के लिए विष पी गए। भक्तों की तपस्या से प्रसन्न होकर वे जहां- जहां उनकी रक्षा और जन कल्याण के लिए प्रकट हुए, उन स्थानों को ज्योतिर्लिंगों के रूप में जाना जाता है। इनकी संख्या 12 है। इनकी बहुत ही महत्ता है। कहते हैं कि इनके दर्शन से मुराद पूरी होती है। सभी कष्ट दूर होते हैं। यहां पूरे साल भक्तों के आने का तांता लगा रहता है। सावन और शिवरात्रि के अलावा विशेष अवसरों पर यहां भक्तों की भीड़ ज्यादा होती है। आइए हम आपको बताते हैं कहां हैं ये शिवलिंग और उनकी क्या है महत्ता। Continue reading “शिव के 12 ज्योर्तिलिंग जिनके दर्शन से दूर होते कष्ट, पूरी होती मनोकामना”

Advertisements

विश्व का एकमात्र मंदिर जिसकी स्थापना ब्रह्मा जी ने की, भगवान राम ने की थी पूजा

सोनपुर को अधिकतर लोग सिर्फ यहां लगने वाले विश्व प्रसिद्ध मेले की वजह से ही जानते हैं, लेकिन इसका बहुत बड़ा पौराणिक महत्व भी है। यह भगवान ब्रह्मा, विष्णु और महेश तीनों से जुड़ा हुआ है। ऐसी अनोखी बात पूरी दुनिया में नहीं है। यहां हरिहरनाथ मंदिर के बारे में कहा जाता है कि इसका निर्माण ब्रह्मा जी ने स्वयं कराया था। तभी तो इसका नाम हरिहर क्षेत्र भी है। कार्तिक पूर्णिमा सहित अन्य प्रमुख त्योहार पर यहां लोगों की भीड़ जुटती है। वैसे मंदिर में सालों भर भक्तों का आना लगा रहता है। कार्तिक पूर्णिमा के स्नान के बाद ही सोनपुर मेले की शुरुआत है। कहा जाता है कि भगवान राम ने इस मंदिर में आकर पूजा की थी। Continue reading “विश्व का एकमात्र मंदिर जिसकी स्थापना ब्रह्मा जी ने की, भगवान राम ने की थी पूजा”

मां वैष्णो देवी की अमर कथा, पूरी होती है हर मुराद

माता वैष्णो देवी की अपरंपार महिमा से सभी वाकिफ हैं। हर साल लाखों भक्त देवी के दर्शन के लिए पहुंचते हैं। कहा जाता है कि सच्चे मन से मांगी गई दुआ मां कबूल करती हैं। यही कारण है कि मां के भक्तों की संख्या अधिक है। माता की कहानी भी कम आश्चर्यचकित करने वाली नहीं है। Continue reading “मां वैष्णो देवी की अमर कथा, पूरी होती है हर मुराद”

ओम की आकृति के बीच शिव मंदिर देख हैरान हो जाएंगे आप

देश में एक से बढ़कर एक मंदिर हैं। कुछ ऐसे हैं जिनके बारे में जानकर वैज्ञानिक भी हैरान हो जाते हैं। वह लाख कोशिशों के बाद भी नहीं समझ पाते हैं कि इतने कुशल वैज्ञानिक आखिर उस समय कैसे होते थे। ऐसा ही एक मंदिर है मध्य प्रदेश का ऐतिहासिक भोजपुर मंदिर के बारे में तो आपने सुना ही होगा, लेकिन अब ये मंदिर वैज्ञानिक। … Continue reading ओम की आकृति के बीच शिव मंदिर देख हैरान हो जाएंगे आप

गांधारी के श्राप से डूबी थी द्वारिका

भगवान कृष्ण मथुरा से कई सौ किलोमीटर दूर समुद्र के किनार अपनी राजधानी द्वारिका बसाई थी। लेकिन वह आज समुद्र में डूब चुकी है। उसके डूबने को लेेकर कई कहानियां प्रचलित हैं। इसमें माता गांधारी द्वारा श्री कृष्ण को दिया गया श्राप और दूसरा ऋषियों द्वारा श्री कृष्ण पुत्र सांब को दिया गया श्राप। द्वारिका महाभारत युद्ध के 36 वर्ष पश्चात समुद्र में डूब गई। … Continue reading गांधारी के श्राप से डूबी थी द्वारिका

यहां लाखों साल से जल रही अग्नि की ज्योति

भगवान भोलेनाथ के देश में कई मंदिर हैं। यहां हमेशा भक्तों का मेला लगा रहता है। लेकिन एक मंदिर ऐसा भी है, जहां शिवजी का विवाह हुआ था। यहीं पर सरस्वती कुंड का निर्माण विष्णु की नासिका से हुआ था। ऐसी मान्यता है कि इन कुंड में स्नान से संतानहीनता से मुक्ति मिल जाती है। माना जाता है कि शिवरात्रि के दिन भगवान शिव ने … Continue reading यहां लाखों साल से जल रही अग्नि की ज्योति

आज तक कोई पूरा नहीं करा सका इस शिव मंदिर का निर्माण

दुनिया में भगवान भोलेनाथ के के कई भव्य और चमत्कारी मंदिर हैं। इनमें से एक मंदिर ऐसा है, जिसका निर्माण आज तक कोई पूरा नहीं करा सका। यह मध्य प्रदेश में स्थित है। इसके निर्माण की कहानी बहुत ही रोचक है। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से लगभग 32 किलोमीटर दूर भोजपुर है। यहीं पर स्थित है भगवान शिव का भोजेश्वर मंदिर। इस मंदिर की … Continue reading आज तक कोई पूरा नहीं करा सका इस शिव मंदिर का निर्माण